Skip to main content

Indian National Physics Olympiad (INPhO) 2021

Indian National Physics Olympiad (INPhO) 2021 Question Paper for physics lovers from india. This is very prestigious exam conducted by Homi Bhabha Centre for Science Education (HBCSE-TIFR) and Indian Association of Physics Teachers (IAPT). As per indian exam for physics olympiad selection, This is 2nd step towards international physics olympiad.

Comments

Popular posts from this blog

InJso 2012 Previous Year Question Paper

Indian Junior Science Olympiad 2012 Past Question Paper For Class 8, 9 and 10 Students. INJSO 2012 Conducted jointly by Homi Bhabha Centre for Science Education (HBCSE-TIFR) and Indian Association of Physics Teachers (IAPT). The syllabus of JSO includes basic school level science. The questions are asked on topics up to class X of CBSE. However, no confirmed guidelines of the detailed list of topics included under the paper is given by HBCSE-TIFR and IAPT.

सुबह प्रभात सन्देश

जब जागो तब सवेरा वैसे तो ये कहावत हमारे बुजर्गो ने किसी आदमी के गहरी निद्रा से उसके सामाजिक परिवेश में जागने समझने के लिए कहा था. लेकिन इस कोरोना काल में हमारा मतलब एक स्वस्थ शरीर के स्वस्थ सुरुआत से है. रात को जल्दी सोना और सुबह जल्दी उठना आपने आप में एक व्यायाम है.अगर आप रोज सुबह जल्दी उठते है तो आपको एक गिलास दूध के बराबर बल मिलता है जो आपने आप में स्फूर्ति दायक है. अगर आप आपने दिनचर्या में रोज़ सवेरे उठान जोड़ लेते है तो ये आपके जीवनशैली और कार्यशैली को भी निखारता है.आपके जीवन में एक सकात्मक सोच के साथ एक स्वस्थ सुरुआत भी होती है जो आपके दिनचर्या को एक सुखद अहसास देती है. स्वामी परमहंस ने कहा है हर पल को पूरी तरह से जियो और भविष्य अपने आप संभाल लेगा। हर पल के आश्चर्य और सुंदरता का पूरी तरह से आनंद लें। ये जीवन और खूबसूरत हो जाती है जब इसमें एक दैनिक दिनचर्या सुबह उठने के साथ योग और ध्यान जुड़ जाता है.

जानिए प्ली स्कीम के बारे में

आज कल प्रोडक्शन लिंक्ड स्कीम यानि प्ली काफी चर्चा में है. जैसा की भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी इस योजना को सफलता पूर्वक अमलीजामा पहना रहे है. प्ली स्कीम का प्रयोग सबसे पहले मोबाइल फ़ोन उधोग में लागु करने और उसके सफल होने के बाद इसे बाकी उद्योगों में लागू किया गया. इस योजना के लागू होने के बाद भारत की छवी मोबाइल फोन आयातक से निर्यात बन गया है। इसकी वजह से आज भारत में लाखो प्रत्यक्ष और अप्रत्याक्ष रोजगार का सृजन हुआ है। जिस्का भारत के अर्थव्यस्थ को मजबूती मिली और साथ ही विदेशी मुद्रा की बचत भी हुई जो आयत के कारन दूसरो देशो को देनी पड़ती थी. अब ये योजना परिवहन निर्माण के क्षेत्र में भी लागू हुई है. जिससे अब इस क्षेत्र में भी उत्साह का माहौल है. और लाखो नै नौकरिया निकट भविष्य में श्रीजित होगी ऐसा अनुमान है. अगर हम इस योजना के अतीत में जाये तो इस सफल योजना का सबसे अच्छा उदहारण चीन में मिलता है. चीन ने आपने यहाँ उद्योगों के लगने और नई नौकरियों को बढ़ावा देने के लिए बड़े पैमाने पे इस योजना को लागु किया. जिसके कारण उसके निर्यात में वृद्धि के साथ साथ पूरी दुनिआ में वर्ल्ड फैक्ट्री के